कोंडली मे चुनावी घमासान: बुनियादी सुविधाओं का अभाव, “आप” की बढ सकती है मुश्किलें

0
13

चुनावी डेस्क- राजनीति में कुछ भी निश्चित नहीं होता है. क्रिकेट का खेल और राजनीति का चुनाव अनिश्चितता वाला होता है. जहां अगले पल क्या हो जाए कुछ भी पता नहीं होता है. हारने वाली टीम मैच जीत जाती है. जीतने वाली हार जाती है. यही खेल होता है. लिहाजा यह मैदान में खेलने वाले खिलाड़ी को ज्यादा पता होता है. कि उसे कब कहां क्या और कैसे करना है.

 

अगर आपको आम आदमी पार्टी के विकास का सच देखना है. तो आप एक बार कोंडली घूम आए कोंडली के अधिकतर हिस्सों में गांव है. गांव में गुर्जर बहुल इलाके है. जहां आज भी गांव की तरह पंचायतें करके फैसला लिया जाता है. गलियों में सड़के तो है. पर उबर खाबड़ है गड्ढे है. चारों तरफ गंदगी पसरी है. नालियों का कोई अता पता नहीं है. सिवरेज का तो पूछो ही मत तो ज्यादा बेहतर होगा. दिल्ली के प्रदूषण के बारे में तो सब जानते ही है. कोंडली कहां से बच सकता है.

 

दिल्ली की राजनीति को करीब से देखने और समझने वाले सियासी लोग कहते है. इस बार कोंडली में आम आदमी पार्टी की कुंडली ठीक नहीं बैठ पा रही है. 5 साल में कोई ठोस काम नहीं हुआ है. जो हुआ है वह कामचलाऊ हुआ है. ऐसे में मुफ्त की योजना के सहारे वापसी के संकेत कम नजर आते है. आप के विधायक के बीजेपी में शामिल होने से बीजेपी खासी मजबूत हो गई है. ऐसे में कोंडली में अगर बीजेपी जीत जाएं तो कोई बड़ी बात नहीं होगी.

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here