देवली में केजरीवाल क्यों है बेअसर?

0
37

चुनावी डेस्क-दिल्ली विधानसभा चुनाव में हर कोई फतह करना चाहता है। तमाम राजनीतिक दल अपनी जोर आजमाइश में जुट हैे। साम-दाम-दंड-भेद किसी भी तरह अपनी बिसात बिठाने में लगे है। लेकिन इस बार दिल्ली विधानसभा चुनाव आसान नहीं है।

 

पिछले चुनाव में देवली विधानसभा सीट आप के खाते में गई थी। लेकिन इस बार बदलते समीकरणों के बीच आप देवली में कमजोर हो गई है। लिहाजा देवली में इस बार पूर्वोचली वोटर खासी अहमियत रखते हैं। देवली में 15 प्रतिशत से ज्यादा पूर्वोचंली वोटर है।

 

सियासी जानकारों का कहना है केजरीवाल के पूर्वोचलियो के खिलाफ दिए गए बेतुके बयान के कारण पूर्वोचली वोटर ‘आप’ से खासे नाराज़। ऐसे में इस बार पूर्वोचली वोटर ‘आप’ से छींटक सकते है। ऐसे में देवली में ‘आप’ को और मेहनत करने की जरूरत है।

 

क्या? फ्री की योजनाओं के आसरे केजरीवाल फिर से दिल्ली में वापसी कर पाएंगे। ऐसा मौजूदा समीकरणों में कम ही नजर आता है। देवली में भाजपा और आप के बीच कांटे की टक्कर नजर आती है। अनाधिकृत कॉलोनियों के नियमन का सीधा असर। इस चुनाव में भाजपा के हिस्से में जाता हुआ लग रहा है।

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here